Germany | Geography of Germany | जर्मनी का भौगोलिक वितरण

1990 में पूर्वी तथा पश्चिमी जर्मनी का एकीकरण हुआ। इसका क्षेत्रफल 357 हजार वर्ग किमी तथा जनसंख्या 84 मिलियन है। जर्मनी की औसत जनसंख्या घनत्व 240 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी (2021) है।

इसके उत्तर में बाल्टिक सागर, उत्तरी सागर व डेनमार्क, पूर्व में पोलैंड व चेकोस्लोवाकिया, दक्षिण में ऑस्ट्रिया तथा स्विट्जरलैंड एवं पश्चिम में फ्रांस, लक्जमबर्ग, बेल्जियम तथा नीदरलैंड्स स्थित है। इसकी सीमाएं प्रदेशों से मिलती है।

जर्मनी का भौतिक प्रदेश


भू-आकृतिक दृष्टि से जर्मनी को चार भागों में बांटा गया है।

  1. उत्तरी मैदान
  2. दक्षिण सीमावर्ती प्रदेश, जिसका धरातल हिमनदित है।
  3. मध्यवर्ती पठारी व पर्वतीय प्रदेश, जहां हार्ज व थूरिंगियन पर्वत स्थित है।
  4. उत्तर में आल्पस एवं अग्रभूमि जहां जर्मनी का सर्वोच्च शिखर जुग्सपिटजी (2963 M) स्थित है। दक्षिण पश्चिम में ब्लैक फॉरेस्ट एवं जूरा पर्वत स्थित है।

जर्मनी में अनेक नदियां बहती हैं। अधिकांश नदियां काला सागर में गिरती हैं। डेन्यूब नदी जो ब्लैक फॉरेस्ट से निकलती है। राइन, एल्व, ओडर, स्प्री, वीजर, एम्स व साले अन्य नदियां हैं। राइन नदी नौवहन के लिए महत्वपूर्ण है।

जर्मनी की जलवायु


जर्मनी की जलवायु शीतोष्ण है। अटलांटिक की ओर से बहने वाली पछुआ पवनें इसे मृदु बनाती हैं। पश्चिमी तटीय क्षेत्र में पश्चिमी यूरोपीय तुल्य जलवायु पाई जाती है। देश के अधिकांश भाग में वार्षिक औसत तापमान 10 डिग्री सेल्सियस रहता है। पूर्वी भाग में महाद्वीप की जलवायु मिलती है। बाल्टिक सागर में पत्तन शीतकाल में जम जाता है। वर्षा का औसत 80 – 100 सेंमी रहता है।

जर्मनी की प्राकृतिक वनस्पति


25 प्रतिशत क्षेत्र पर वन (Forest) पाए जाते हैं। अधिकांश वन पर्वतीय भागों में मिलते हैं। दो तिहाई वन शंकुधारी हैं। जर्मनी के वन अम्ल वर्षा से बहुत प्रदूषित हो गए हैं।

जर्मनी की कृषि


10 प्रतिशत से कम कार्यशील जनसंख्या कृषि में संलग्न है। यहां गेहूं, जौ, जई, राई, चुकंदर व आलू आदि मुख्य खाद्य फसलें (Food Crops) उगाई जाती हैं। अलसी, तंबाकू, फलैक्स तथा सूरजमुखी मुख्य फसलें हैं। डेयरी तथा मुर्गी पालन भी विकसित है।

जर्मनी में खनिज संसाधन


कोयला, लिग्नाइट, लोहा, पोटाश, सीसा व जस्ता आदि प्रमुख खनिज है। रूर घाटी में अधिकांश कोयला मिलता है। रूर को जर्मनी का काला देश कहते हैं। सार बेसिन, आकेन बेसन, कोलोन अन्य कोयला क्षेत्र हैं। उत्तरी सागर से पेट्रोलियम तथा नीदरलैंड्स की सीमा के निकट प्राकृतिक गैस प्राप्त होती है। परमाणु विद्युत भी पैदा की जाती है।

उद्योग


लोहा-इस्पात, रसायन, मशीनरी, वाहन, उपभोक्ता सामग्री तथा प्रसंस्करण प्रमुख उद्योग है। एसेन, डुसेलडोर्स, डार्टमण्ड, बोखम, डुइसबर्ग, सोलिजन, रेमशेल्ड तथा क्रेफेल्ड आदि लोहा इस्पात के प्रमुख केंद्र हैं।

जर्मनी की जनसंख्या


यहां जनसंख्या का संकेन्द्रण राइन एवं रूर के औद्योगिक क्षेत्रों में अधिक है। देश में 100 प्रतिशत साक्षरता है तथा 77 प्रतिशत नगरीकरण है। जनसंख्या की वार्षिक वृद्धि ऋणात्मक है। प्रति व्यक्ति औसत वार्षिक आय $42,500 है।
बर्लिन देश की राजधानी है, जो एक सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक नगर भी है। म्यूनिख, कोलोन, फ्रेंकफर्ट तथा लिपजिग अन्य प्रमुख नगर है।